Monday, April 23,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
अजब गज़ब

इंसानियत शर्मसार, पिता की लाश को रेहड़ी पर ढोने को मजबूर हुए बच्चे  

Publish Date: March 27 2018 03:33:08pm

बाराबंकी (उत्तम हिन्दू न्यूज) : बाराबंकी जिला के एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद से मृत व्यक्ति की लाश को उसके बच्चे रेहड़ी में उठाकर ले गए। इस घटना पर जले के मुख्य मेडिकल अधिकारी डॉ. आर. चंद्रा ने साफ-साफ कहा कि हमारे पास केसल दो ही शव वाहन हैं, जो शव लेकर गए हुए थे और हमारे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं था। बच्चों को जल्दी हो रही थी और वे अपने पिता की लाश को रिक्सा में उठाकर ले गए।   

घटना के बारे में बताया गया है कि बाराबंकी में मंशाराम (50) की तबीयत सोमवार को खराब हो गई। राजकुमार ठेले पर लादकर अपने बीमार पिता मंशाराम को अपनी छोटी बनह मंजू के साथ सीएचसी लेकर पहुंचा लेकिन डॉक्टरों ने मंशाराम को मृत घोषित कर दिया। बता दें कि अस्पताल में पिता की मौत के बाद शव ले जाने के लिए भाई-बहन घंटों भटके लेकिन कोई मदद के लिए आगे नहीं आया। कुछ ग्रामीणों ने शव को ठेले पर रखकर धक्का जरूर लगवा दिया। 

डॉक्टर बताते रहे कि मेडिकल प्रधान को सूचना भेजी है, वह मदद करेंगे। जब दो घंटे तक कोई नही आया तो आंख में आंसू लिए राजकुमार आठ किमी तक पिता शव ठेले पर ढोकर लोनी कटर पहुंचा लेकिन राजकुमार के पास अपने पिता का अंतिम संस्कार करने तक के पैसे नहीं थे। राजकुमार को कहीं से कोई आर्थिक मदद नहीं मिलने से शव का अंतिम संस्कार भी नहीं हो सका है। शव भिजवाने की व्यवस्था नहीं सीएचसी पर मौजूद डॉ. प्रदीप कुमार का कहना है कि मरीज जब तक यहां पहुंचा उसकी मौत हो चुकी थी। सीएचसी के पास शव वापस गांव भिजवाने की कोई व्यवस्था नहीं है।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


जीत पर अब भी यकीन नहीं: अजिंक्य रहाणे

जयपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज): राजस्थान रॉयल्स के कप्तान अजिंक्य रहाणे के लिए अब भी यकीन करना...

मुझे उस युग में ले चलिए, जब लोग अच्छे थे : पूजा भट्ट

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेत्री व फिल्मकार पूजा भट्ट ने...

top