Friday, April 20,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
पंजाब

मुझे सरकार चलाना न सिखाएं सुखबीर : कैप्टन

Publish Date: April 16 2018 11:13:37am

चंडीगढ़ (प्रेम विज):मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उनके काम की शैली पर शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल की बयानबाजी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि उनको पूर्व उप-मुख्यमंत्री से सबक लेने की जरूरत नहीं है जिसने अकाली-भाजपा के 10 वर्षों के शासन के दौरान राज्य का बेड़ा गरक कर दिया। आज यहां जारी किये एक बयान में मुख्यमंत्री ने कहा कि सुखबीर सिंह बादल शासन पक्ष से बुरी तरह नाकाम सिद्ध हुआ, जिसका प्रमाण पिछली सरकार के समय राज्य में फैली अंधेरगर्दी से मिलता है, जिस के कारण अकाली दल के प्रधान को किसी के शासन चलाने के ढंग पर किंतु करने का कोई हक नहीं है। 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सुखबीर का बयान बिल्कुल बेतुका है, जिससे पंजाब के राजनैतिक धरातल छिन जाने से अकाली दल की निराशा के कारण उसमें पैदा हुई बेचैनी से अलावा और कुछ नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सुखबीर को इस बात की चिंता नहीं करनी चाहिए कि उसका (कैप्टन अमरिंदर) कंट्रोल नहीं है या कम है बल्कि उसे अकाली दल पर अपनी पकड़ कमज़ोर होने के अलावा पंजाब के राजनैतिक पृष्ठभूमि छिने जाने की चिंता करनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि बादलों के नेतृत्व वाले अकालियों के उलट वह अपने सिविल और पुलिस प्रशासन को बिना किसी भय या पक्षपात के कुशलता के साथ फज़ऱ् निभाने के लिए छुट देने में विश्वास रखते हैं जिससे वह सरकार की नीतियों और वायदों को प्रभावी ढंग से लागू कर सकें। उन्होंने कहा कि बादलों द्वारा अफसरशाही और पुलिस अफसरों को पूरी तरह दबा कर रखा गया था। यदि सुखबीर उस तरह के 'कंट्रोल Ó की बात कर रहा है तो उनको इस तरह के कंट्रोल वाले शासन को लागू न करने पर ख़ुशी और मान है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि उन्होंने पुलिस को खुली छुट न दी होती तो राज्य में गैंग्स्टरों की गुंडागर्दी, सुनियोजित कत्ल करने और बेअदबी की घटनाओ पर रोक न थी लगनी, जिन घटनाओं ने अकालियों के शासन के दौरान राज्य की कानून-व्यवस्था तहस-नहस कर दी थी। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि इस समय अफसरशाही पूरी पारदर्शिता के साथ काम कर रही है जबकि अकाली -भाजपा के 10 वर्षों के लम्बे शासन के दौरान ऐसा करने की इजाज़त नहीं थी। उन्होंने अफसरशाही की तरफ से विभिन्न सरकारी योजनाओं को सफलतापूर्वक अमल में लाने का भी जि़क्र किया। मुख्यमंत्री ने सुखबीर बादल को नवजोत सिंह सिद्धू केस में सुप्रीम कोर्ट के आगे पंजाब सरकार के अपने पहले स्टैंड से पीछे हटने के लिए एक भी कानूनी तरकीब बताने की चुनौती भी दी। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


IPL चेन्नई सुपरकिंग का राजस्थान रायल्स से मुकाबला आज

पुणे  (उत्तम हिन्दू न्यूज): कावेरी विवाद के चलते घर बदल जाने ...

नई फिल्म के लिए कैटरीना से 5 गुना ज्यादा फीस लेंगे वरूण धवन

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): बॉलीवुड के चॉकलेटी हीरो वरूण धवन अपनी आने वाली फिल्म के लिये 3...

top