Sunday, November 19,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राजनीति

जागरूक हश्मिता

Publish Date: July 19 2017 04:29:55pm

पटियाला के सनौर कस्बे की 7वीं कक्षा की छात्रा हश्मिता अनुसार वह कुछ समय पहले परिवार के साथ दिल्ली घूमने गई थी। इस दौरान उसने राष्ट्रपिता के समाधि स्थल पर भी नमन किया। वहां जूते रखने के दो काउंटर्स हैं। एक पेड काउंटर है, जहां सिर्फ 1 रुपए शुल्क वसूला जाता है और दूसरा काउंटर बिल्कुल मुफ्त है। इसी दौरान वहीं उसने देखा कि जूते काउंटर पर नियुक्त मुलाजिम विदेशी सैलानियों से 100-100 रुपए वसूल रहे थे। विदेशी सैलानियों से जबरन वसूली उसे अच्छी नहीं लगी। 13 साल की हश्मिता ने बताया कि इस तरह का भ्रष्टाचार किया जाना उसे बहुत खराब लगा। उसने बताया कि इस तरह की घटनाएं विदेशी सैलानियों में हमारे देश की छवि भी खराब करती हैं। रास्तेभर वह मन ही मन सोचती रही कि इसके लिए क्या किया जाए कि विदेशियों को इस तरह की ठगी का सामना न करना पड़े। इसलिए उसने वापस सनौर आकर इसकी लिखित शिकायत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भेजी। हालांकि, उसके पास प्रधानमंत्री का पता नहीं था, इसलिए उसने चिट्ठी सिर्फ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, नई दिल्ली लिखकर पोस्ट कर दी। उन्हें तो विश्वास भी नहीं था कि प्रधानमंत्री उनकी इस चिट्ठी पर तुरंत एक्शन लेेंगे। अब जब राजघाट समाधि समिति का एक लेटर उन्हें मिला तो पता चला कि प्रधानमंत्री ऑफिस कार्यालय (पीएमओ) ने उसकी इस शिकायत पर तुरंत जांच के आदेश जारी कर दिए। 

पीएमओ की जांच में हश्मिता द्वारा स्टाफ पर लगाए गए सभी आरोप सही पाए गए। इसके बाद पीएमओ ने तत्काल राजघाट के समाधि स्थल का सारा स्टाफ बदल दिया। इसके साथ ही अब वहां पर इस तरह की घटना दोबारा न हो इसके लिए सीसीटीवी कैमरे भी इंस्टॉल किए जा रहे हैं। पीएमओ के इस लेटर के बाद अचंभित हश्मिता के पिता अमरदीप सिंह ने इस कार्रवाई पर पीएम का आभार जताया। उन्होंने कहा कि वाकई पीएम मोदी भ्रष्टाचार के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करते हैं।

उपरोक्त एक घटना से स्पष्ट हो जाता है कि अगर देश का नागरिक जागरुक हो जाए तो देश का कल्याण हो सकता है। हश्मिता आयु में बेशक छोटी है लेकिन उसने वो कर दिखाया जो वयस्क भी नहीं कर पाते। जमीनी सत्य यही है कि प्रतिदिन हम में से अधिकतर को भ्रष्टाचार से जुड़ी घटनाएं तथा शोषण के समाचार सुनने को मिलते हैं, लेकिन अधिकतर लोग उपरोक्त समाचारों के प्रति उदासीन रहते हैं, क्योंकि उनको लगता है कि इस चक्कर में पडऩा तो समय बर्बाद करना है।

जन साधारण की उपरोक्त उदासीनता की प्रवृत्ति के कारण व्यवस्था में भ्रष्टाचार व शोषण तो बढ़ ही रहा है, साथ में व्यवस्था में गिरावट भी आ रही है। इस कारण आम आदमी का जीवन बेहाल हो रहा है। हश्मिता भी अन्यों की तरह राजघाट में हो रहे भ्रष्टाचार के मामले में उदासीन रह सकती थी, लेकिन वह नहीं रही उसने भ्रष्टाचार विरुद्ध आवाज उठाई और परिणाम आपके सामने हैं।

डा. भीमराव अम्बेडकर ने संविधान सभा में बोलते हुए जन प्रतिनिधियों के प्रति अपने भाव प्रकट करते हुए कहा था कि 'मैं महसूस करता हूं कि संविधान चाहे कितना भी अच्छा क्यों न हो, यदि वे लोग जिन्हें संविधान को चलाने का काम सौंंपा जाएगा, खराब निकलें तो निश्चित रूप से संविधान भी खराब सिद्ध होगा। दूसरी ओर, संविधान चाहे कितना भी खराब क्यों न हो, यदि उसे चलाने वाले अच्छे लोग हुए तो संविधान अच्छा सिद्ध होगा।

डा. राजेन्द्र प्रसाद ने कहा था 'यदि जो लोग चुनकर आएंगे चरित्रवान और ईमानदार हुए तो वे दोषपूर्ण संविधान को भी सर्वोत्तम बना देंगे। यदि उनमें इन गुणों का अभाव हुआ तो संविधान देश की कोई मदद नहीं कर सकता। डा. अम्बेडकर और डा. राजेन्द्र प्रसाद ने जन प्रतिनिधियों के बारे जो भाव प्रकट किए वह आज भी सार्थक हैं और सत्य के करीब हैं। लेकिन हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि इन प्रतिनिधियों का चुनाव तो हम ही करते हैं। अगर हमने जागरुक हो अपने कत्र्तव्य को नहीं निभाया तो देश तथा देश के जन का वर्तमान और भविष्य दोनों पर बुरा प्रभाव ही पड़ेगा। हश्मिता ने जो किया वह सबके लिए प्रेरणादायक है। हश्मिता की तरह हर कोई अगर स्थानीय से लेकर राष्ट्रीय स्तर पर हो रहे भ्रष्टाचार और शोषण विरुद्ध अपनी उदासीनता को छोड़ सक्रिय हो कार्य करने लगे तो शायद समाज व देश का कायाकल्प हो जाए। हश्मिता ने जो किया उसके लिए वह बधाई की पात्र है, उसने देश के सम्मान को बचाया है। क्या आप भी हश्मिता से प्रेरणा ले भ्रष्टाचार और शोषण विरुद्ध आवाज उठाने का संकल्प लेंगे? ध्यान रहे आप द्वारा लिया संकल्प देश के वर्तमान और भविष्य दोनों को सुधारने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। 


इरविन खन्ना, मुख्य संपादक, दैनिक उत्तम हिन्दू। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


शमी की चोट गंभीर नहीं: पुजारा

कोलकाता(उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय टीम के बल्लेबाज चेतेश्वर ...

66 साल की जीनत, जीवन में सीखे सबक किए बयां

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): दिग्गज अभिनेत्री जीनत अमान रविवार...

top