Saturday, November 18,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
दिल्ली

हवाला डायरी मामले में जैन, अन्य बरी

Publish Date: September 01 2017 04:53:47pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): अदालत ने साल 1991 के 'हवाला डायरी' मामले के आरोपियों एस.के. जैन, उनके कर्मचारी जे.के. जैन और अन्य को विदेशी मुद्रा विनिमय अधिनियम के उल्लंघन के आरोपों में बरी कर दिया। इसके साथ ही यह मामला अब बंद हो गया है। अतिरिक्त मुख्य महानगर दंडाधिकारी ज्योति क्लेर ने हाल ही में सुनाए गए एक फैसले में हवाला कांड के कथित आरोपी व डायरी के लेखक एस.के.जैन और जे.के.जैन को तथा मोहम्मद अमीर दीन हबीब और एस.एस.ओ. सैयद आरिफ को बरी कर दिया। क्लेर ने कहा कि इनके खिलाफ फेमा उल्लंघन के आरोपों को साबित करने वाले कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं। 

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का आरोप था कि एस.के.जैन ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की मंजूरी के बिना विदेशी मुद्रा को भारतीय मुद्रा में परिवर्तित किया था। ईडी ने इस अपराध के लिए जे.के.जैन के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था।
अदालत के मुताबिक, "फेरा की धारा 8 (1) और 8 (2) के तहत तय किए गए आरोप के मद्देनजर कथित आरोपों के तथ्य पेश होने चाहिए, लेकिन इन आरोपों में ये तथ्य गायब हैं।"फैसले के मुताबिक, "ऐसे कोई साक्ष्य नहीं हैं, जिससे पता चले कि ऐसा कोई शख्स था, जिससे विदेशी मुद्रा प्राप्त हुई हो। इस बात के भी कोई साक्ष्य नहीं हैं कि विदेशी मुद्रा किस तरह मिली थी।"'जैन हवाला डायरी मामला' केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 1991 में दर्ज किया था।
सीबीआई को कई दस्तावेज मिले थे, जिनसे पता चला था कि जे.के.जैन को जैन बंधुओं की ओर से एस.एस.ओ.सैयद आरिफ सहित विभिन्न सूत्रों से पैसे मिले थे।

जे.के.जैन भिलाई इंजीनियरिंग कॉर्प कंपनी के साथ काम कर रहे थे, जबकि हबीब और आरिफ मुंबई स्थित कंपनी में साझेदार थे। मामलों के लंबित होने के दौरान दो आरोपियों एन.के.जैन और बी.आर.जैन की मौत हो गई। यह स्कैंडल चार हवाला दलालों के जरिए नेताओं द्वारा कथित तौर पर भुगतान भेजने से संबंधित था। इस मामलों में जिन नेताओं के नाम हटा दिए गए, उनमें भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, कांग्रेस के दिवंगत नेता वी.सी.शुक्ला, माधवराव सिंधिया, पी.शिव शंकर और जनता दल के नेता शरद यादव रहे हैं। सर्वोच्च न्यायालय ने अपने फैसले में इन सभी को बरी कर दिया था। ईडी का आरोप था कि आरोपी 26 अवैध लेन-देन में शामिल थे और इन्होंने 1998 से 1991 के दौरान लगभग 2,26,50,000 डॉलर की मुद्रा को भारतीय मुद्रा में परिवर्तित किया।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


रणजी ट्रॉफी -दिल्ली के विशाल स्कोर के सामने लडख़ड़ाई महाराष्ट्र की पारी

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): कप्तान ईशांत शर्मा की आगुआई म...

आलोचना के बीच 'पद्मावती' के रोल पर ये बोलीं दीपिका पादुकोण...

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेत्री दीपिका पादुकोण कुछ समय ...

top