Saturday, November 18,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
हिमाचल प्रदेश

बारिश से जगह-जगह भूस्खलन, 4 मरे, 77 सड़कें बंद

Publish Date: September 01 2017 07:54:49pm

शिमला (उत्तम हिन्दू न्यूज): हिमाचल में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। जगह-जगह भूस्खलन से छोटी-बड़ी 77 सड़कें बंद हैं जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बिलासपुर और शिमला जिलों में भूस्खलन की अलग-अलग घटनाओं में 4 लोगों की मौत हो गई और 2 घायल हो गए। चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे पर एक चलती कार मलबे की चपेट में आ गई। हादसे में 2 महिलाओं सहित 3 लोगों की मौत हो गई तथा 2 अन्य घायल हो गए। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक हादसा आज दिन में बिलासपुर के नजदीक गंभरोला नामक स्थान पर हुआ, जब कलरी से बिलासपुर की ओर आ रही कार पहाड़ से मलवा गिरने से बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। कार में एक ही परिवार के 5 लोग सवार थे, जिनमें पति-पत्नी सहित 3 की घटनास्थल पर मौत हो गई। मृतकों की पहचान 62 वर्षीय कृष्ण लाल, उनकी पत्नी 59 वर्षीय विमला देवी और 56 वर्षीय सुखदेई के तौर पर हुई है। इधर, शिमला जिले के जुब्बल क्षेत्र के सरस्वतीनगर स्थित वन कॉलोनी में कल शाम भारी वर्षा से एक मकान ढह गया और इसके कारण चार वर्षीय बच्ची की मौत हो गई। शिमला में बीती रात से शुरू हुई वर्षा आज दिन भर होती रही, जिससे जिले के विभिन्न क्षेत्रों में भूस्खलन हुआ। ठियोग-हाटकोटी सड़क मार्ग जगह-जगह मलबा गिरने से बाधित रही।

हालांकि प्रशासन ने दोपहर बाद सड़क मार्ग बहाल कर दिया। शिमला में आईएसबीटी के समीप टूटीकण्डी बाईपास सड़क मार्ग एक बार फिर भूस्खलन की जद में आ गया। यहां दोपहर के समय पहाड़ी से भारी मात्रा में मलबा गिर गया। इससे कालका-शिमला नेशनल हाईवे कुछ समय के लिए बाधित हो गया। प्रशासन ने तुरंत मशीनरी लगाकर हाईवे के एक हिस्से को आवाजाही के लिए बहाल कर दिया है। बीते वर्ष भी इसी स्थान पर सड़क धंस गई थी। सोलन में परवाणू-शिमला नेशनल हाईवे और बिलासपुर में बिलासपुर-हमीरपुर पर फोरलेन निर्माण की वजह से कमजोर हुए पहाड़ का बारिश के चलते जमींदोज होने का खतरा बढ़ गया है। इन सड़कों पर मिट्टी पूरी तरह से दलदल में बदल गई है। लोकनिर्माण विभाग के अधिकारियों के मुताबिक शुक्रवार को पूरे प्रदेश में 77 छोटी-बड़ी सड़कें भूस्खलन से अवरूद्व रहीं।
 

इनमें सबसे अधिक 52 सड़कें शिमला मंडल में बंद हैं। अकेले रोहड़ू में 35 सड़कें ल्हासे गिरने से क्षतिग्रस्त हुई हैं। कांगड़ा मंडल में 15, मंडी में 6 और हमीरपुर में 3 सड़क मार्ग अवरूद्व हैं। विभाग ने सड़कों की बहाली के कार्य में 175 जेसीबी, टिप्पर और डोजर तैनात किए हैं। मौसम विभाग ने राज्य के मैदानी व मध्यम उंचाई वाले इलाकों में शनिवार तक वर्षा का क्रम इसी तरह जारी रहने की संभावना जताई है। निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि प्रदेश भर में 7 सितम्बर तक वर्षा होती रहेगी, लेकिन इस अवधि में कहीं भी भारी वर्षा होने की संभावना नहीं है।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


रणजी ट्रॉफी -दिल्ली के विशाल स्कोर के सामने लडख़ड़ाई महाराष्ट्र की पारी

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): कप्तान ईशांत शर्मा की आगुआई म...

आलोचना के बीच 'पद्मावती' के रोल पर ये बोलीं दीपिका पादुकोण...

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेत्री दीपिका पादुकोण कुछ समय ...

top