Saturday, November 18,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
हिमाचल प्रदेश

रोहतांग दर्रे का मुद्दा एनजीटी के साथ उठाया जाएगा : वीरभद्र सिंह

Publish Date: September 11 2017 08:05:08pm

कुल्लू (राजीव शर्मा) :  मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि भाजपा की आलोचनाओं की मैं परवाह नहीं करता हूंं। भाजपा कहती है कि वीरभद्र सिंह थोक में स्कूल क्यों खोल रहे हैं। क्या गांव का बेटा-बेटी शिक्षित नहीं होने चाहिए। रोजगार नहीं मिलना चाहिए, नेता या अफसर नहीं बनने चाहिए। उन्होंने कहा कि जब हिमाचल बना था तब यहां कुछ भी नहीं था। शिक्षा का अभाव था, सड़कें नहीं थी, पेयजल योजनाएं नहीं थीं, स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं थीं। हिमाचल पूरी तरह से गरीब राज्य था। लेकिन आज हिमाचल प्रदेश समृद्ध राज्यों की श्रेणी में है। यह सब बदलाव भाजपा की ताली बजाने से नहीं बल्कि कांग्रेस की मेहनत से हुआ है। उन्होंने कहा कि हालांकि वह निजी तौर पर पलचान-रोहतांग रज्जू मार्ग के पक्ष में नहीं है। लेकिन वह निश्चित तौर से मामला प्राथमिकता के आधार पर राष्ट्रीय हरित ट्रिब्यूलन से उठाएंगे ताकि इसका प्रभावी ढंग से समाधान हो सके। वह सोमवार को कुल्लू जिला के बाहंग (मनाली) में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उन्हें समीपवर्ती पंचायतों के प्रतिनिधियों से आपत्तियां प्राप्त हुई हैं और राज्य सरकार एनजीटी के दिशा-निर्देशानुसार इस समस्या का कोई सौहार्दपूर्ण समाधान निकालने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि वाहनों की भीड़ को कम करने के राष्ट्रीय हरित ट्रिब्यूनल के आदेश रोहतांग मार्ग पर ढाबों तथा छोटे व्यावसायों से अपनी आजीविका अर्जित करने वालों के साथ-साथ रोहतांग दर्रे पर सैलानियों को लाने व ले जाने वाले टैक्सी संचालकों के विरूद्ध है जिनकी रोजी रोटी इस व्यवसाय पर निर्भर है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि मौसम में बदलाव शायद ग्लोबल वामिंग के कारण है न कि वाहनों से। उन्होंने कहा कि लाहुल-स्पीति के द्वार तथा लेह-लद्दाख के लिए सड़क मार्ग इस दर्रे से सदियों से वाहनों की आवाजाही है। उन्होंने कहा कि सामाजिक एवं पर्यावरण से जुड़े अनेक कारण है तथा क्षेत्र से भाजपा के नेता निजी स्वार्थ के लिए मामले का राजनीतिकरण कर रहे हैं।  मुख्यमंत्री ने कहा कि कुल्लू-मनाली विश्व भर में पर्यटन क्षमता के लिए जाना जाता है और राज्य सरकार पर्यटन क्षमताओं के दोहन के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि हमीरपुर में मेडिकल कॉलेज स्थापित करने के लिए वन स्वीकृति का इंतजार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं की आपसी लड़ाई के चलते एम्स का भविष्य अधर में लटका हुआ है। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग, लोक निर्माण व विभिन्न विभागों की अनेक परियोजनाओं की भी आधारशिलाएं रखी। उन्होंने लगभग 63 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले 10 पुलों, 10 सड़कों तथा दो भवनों की आधारशिलाएं रखीं। इस अवसर पर  सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मंत्री विद्या स्टोक्स , खंड कांग्रेस समिति कुल्लू के अध्यक्ष भुवनेश्वर गौड़, खंड महिला कांग्रेस समिति की अध्यक्ष विद्या नेगी, कुल्लू मनाली पर्यटन विकास मंडल के अध्यक्ष अनूप ठाकुर, पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष हरि चंद शर्मा, ग्राम पंचायत शनाग के प्रधान प्रताप ठाकुर व अन्य गणमान्य भी मौजूद रहे।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


रणजी ट्रॉफी -दिल्ली के विशाल स्कोर के सामने लडख़ड़ाई महाराष्ट्र की पारी

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): कप्तान ईशांत शर्मा की आगुआई म...

आलोचना के बीच 'पद्मावती' के रोल पर ये बोलीं दीपिका पादुकोण...

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेत्री दीपिका पादुकोण कुछ समय ...

top