Monday, September 25,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
हरियाणा

बुजुर्ग ने अस्पताल के बेड पर तोड़ा दम, प्रशासन बेखबर

Publish Date: September 11 2017 08:59:36pm

घरौंडा (राणा):घरौंडा के सरकारी अस्पताल में डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही देखने को मिली है। जहां ईलाज के लिए दाखिल एक बुजुर्ग ने अस्पताल के बेड पर कब दम तोड दिया, इसका किसी को पता नही चला। कई घंटों तक वृद्ध के शरीर में कोई हलचल न देख मरीजों ने अस्पताल स्टाफ को शिकायत की। जिसके बाद खुलासा हुआ कि बुजुर्ग दम तोड़ चुका है। मृत बुजुर्ग का शव कई घंटों तक अस्पताल के जनरल वार्ड के बेड पर अन्य मरीजों के साथ पड़ा रहा। लेकिन किसी ने भी बुजुर्ग की सुध नही ली। मीडिया के कैमरों को देख अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मच गया और डॉक्टरों ने आनन-फानन में शव को दूसरे खाली वार्ड में शिफ्ट किया। हालांकि अस्पताल प्रशासन अपनी लापरवाही मानने के लिए कतई तैयार नही है। 
    गांव गढ़ीभरल निवासी बुजुर्ग सुरेश कुमार को किसी अज्ञात व्यक्ति ने 9 सितम्बर को अस्पताल में भर्ती करवाया था। जिसका ईलाज अस्पताल में ही चल रहा था। बुजुर्ग ने भगवा रंग के कपड़े पहने हुए थे। डॉक्टरों के अनुसार बुजुर्ग को करनाल रेफर किया जाना था, लेकिन बुजुर्ग का कोई परिजन न होने के कारण उसको रेफर नही किया जा सका। बाबा का अस्पताल में ही ईलाज चलता रहा। लेकिन सोमवार की सुबह बुजुर्ग को कार्डिया का अटैक आया और उसकी मौत हो गई। 
     बुजुर्ग की मौत के बारे में जनरल वार्ड के किसी भी मरीज को नही पता था और वे उस बॉडी के आस-पास घुमते फिरते रहे। लेकिन जब मरीजों को बुजुर्ग की मौत की जानकारी हुई तो मरीजों व अन्य परिजनों दूरी बनानी शुरू कर दी और अस्पताल पर लापरवाही के आरोप लगाए। मरीज के साथ आए एक परिजन का कहना है कि बुजुर्ग कई घंटे से हिला ढुला तक नही है। इस दौरान कोई भी डॉक्टर या कर्मचारी उसकी सुध लेने तक नही आया। बुजुर्ग काफी समय से मृत पड़ा है और अस्पताल प्रबंधन ने उसकी बॉडी को दूसरे वार्ड में शिफ्ट तक नही किया। जिससे पता चलता है कि अस्पताल कितना ढिला व लापरवाह है। 
सवालों से बचती नजर आई डॉक्टर-    
    मेडिकल ऑफिसर सुनीता भौरिया से बात करनी चाही तो वे कैमरे व सवालों से बचती नजर आई। उनका कहना था कि बुजुर्ग को उन्होंने एक घंटे पहले ही मृत घोषित कर पुलिस को सूचना दे दी थी। बॉडी एक घंटे तक वार्ड में पड़े रहने के बारे में सवाल किया गया तो कोई संतोषजनक उत्तर नही दे पाई। 
बॉडी बेड पर ही रहेगी और कहां जाएगी : एसएमओ    
    एसमओ कुलबीर सिंह का कहना है कि बुजुर्ग को मृत घोषित करने के बाद डॉक्टर ने स्टाफ के कर्मचारियों को बॉडी दूसरे वार्ड में शिफ्ट करने के लिए कहा था। उसके बाद डॉक्टर एमरजेंसी वार्ड में दूसरे मरीजों के साथ बिजी हो गई। बॉडी को वार्ड से शिफ्ट किए जाने के सवाल पर उन्होंने बेतुका सा जवाब दिया-उनका कहना था कि बॉडी तो बेड पर ही रहेगी, और कहां जाएगी। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


खेल के साथ दूसरी चीजें भी जरूरी : हरमनप्रीत

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज़) : हाल ही में एक फैशन शो में रै...

फिल्म 'फन्ने खान' के लिए उत्साहित है ऐश्वर्या राय

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज़) : अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन ने ...

top