Sunday, November 19,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
अजब गज़ब

पति के अंतिम संस्कार के खर्च के लिए मां ने गिरवी रख दिया बेटा, अब पीना पड़ रहा नाली का पानी

Publish Date: May 14 2017 08:53:08pm

आगरा (उत्तम हिन्दू न्यूज) : मदर्स डे पर जहां मां के सम्मान और त्याग को लेकर हजारों संदेश सोशल मीडिया पर छाए  हुए हैं वहीं आगरा में एक महिला अपने दो बच्चों को नाली का पानी पीते हुए मिली। ये महिला नौकरी की तलाश में दीमापुर से यहां आई है। जांच की तो पता चला कि वे नागालैंड में अपने गिरवी रखे बच्चे को छुड़ाने के लिए कुछ पैसे बचाना चाह रही है इसीलिए उसे नाली का पानी पीने को मजबूर होना पड़ रहा है। महिला रीता (20) अपने देवर के साथ आगरा आई। 
रीता को शाह मार्केट में दो बच्चों (3 वर्षीय नंदिनी और डेढ़ साल के बेटे अरुण) के साथ नाली से पानी पीते हुए देखा गया। इसके बाद एक स्थानीय दुकानदार ने उसे पानी का पाउच दिया। उसके पास एक भी रुपया नहीं था। पांच दिनों से वह काम तलाश रही है लेकिन सफल नहीं हुई। जिस बाजार में उसे नाली से पानी पीते हुए देखा गया वहां पर एक भी सार्वजनिक प्याऊ नहीं था। रीता की भाषा को स्थानीय लोग समझ नहीं पा रहे थे। इसी बीच मानवाधिकार कार्यकर्ता नरेश पारासर को रीता के बारे में सूचना दी गई। उसकी आपबीती सुनने के बाद नरेश ने नागालैंड पुलिस से मदद के लिए संपर्क किया। नरेश ने बातचीत में बताया, 'बीते चार दिनों से महिला कठिन परिस्थितियों में रह रही थी। अपने बच्चों की भूख मिटाने के लिए वह कचरे में फेके गए बचे हुए खाने को बीनकर उन्हें खिला रही थी और नाली का पानी पिला रही थी। 
बच्चों की प्यास के लिए चुराई बोतल
अपने बच्चों की प्यास बुझाने के लिए उसने एक दुकान से पानी की बोतल उठा ली थी जिसके बाद उस दुकानदार ने उसकी पिटाई भी कर दी थी। उसने पुलिस से संपर्क करने की भी कोशिश की थी लेकिन उसकी सुनी नहीं गई। नरेश ने एक काउंसलर के साथ मिलकर रीता से बातचीत की। जांच में ये बात सामने आई कि सात माह पहले रीता के पति मुकेश की बीमारी के चलते मौत हो गई। अपने पति का अंतिम संस्कार करने के लिए उसने एक व्यक्ति से अपने सात साल के बेटे के बदले में 2000 रुपये उधार लिए। अपने बेटे को छुड़ा पाने के लिए पैसा न जुटा पाने पर रीता अपने देवर पप्पू के साथ आगरा आ गई। पप्पू उसे अकेला छोड़कर भाग गया।नागालैंड में रीता चाय के एक बाग में काम कर रही थी और 40 रुपये की दिहाड़ी कमा रही थी। नागालैंड पुलिस ने रीता के दीमापुर का निवासी होने की पुष्टि की है। 
आगरा में स्थानीय दुकानदार और नरेश ने मिलकर महिला को 3000 रुपये दिए। इसके साथ ही उसे पानी, खाना, कपड़े और ट्रेन का टिकट खरीदकर दिया।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


शमी की चोट गंभीर नहीं: पुजारा

कोलकाता(उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय टीम के बल्लेबाज चेतेश्वर ...

66 साल की जीनत, जीवन में सीखे सबक किए बयां

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): दिग्गज अभिनेत्री जीनत अमान रविवार...

top