Saturday, November 18,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
हिमाचल प्रदेश

हिमाचल में ऐतिहासिक मतदान, पिछले सारे रिकॉर्ड टूटे

Publish Date: November 09 2017 09:27:17am

शिमला (उत्तम हिन्दू न्यूज) : हिमाचल विधानसभा चुनाव की 68 सीटों के लिए गुरुवार को शांतिपूर्वक मतदान संपन्न हो गया। इसकी जानकारी देते हुए चुनाव आयोग ने कहा है कि प्रदेश में पांच बजे तक 74 फीसदी वोटिंग हुई, जोकि प्रदेश के इतिहास का अब तक का सबसे ज्यादा प्रतिशत है। साल 2012 चुनाव में 73.4फीसदी वोटिंग हुई थी। मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ और पोलिंग बूथों पर सुबह से ही मतदाताओं की भारी भीड़ देखने को मिली। निर्वाचन उपायुक्त संदीप सक्सेना ने बताया कि मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण ढंग से चला और कुल 50 लाख 25 हजार 941 मतदाताओं में से शाम पांच बजे तक 74 प्रतिशत ने वोट डाले। 400 से अधिक बूथों पर मतदाता शाम पांच बजे के बाद भी कतारों में लगे थे। ऐसे में मतदान प्रतिशत 76 से 77 फीसदी तक जाने का आनुमान है। इसके साथ ही 337 प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में कैद हो गया। इनमें मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती सहित कई दिग्गज नेता शामिल हैं। बता दें कि इस चुनाव में 337 कैंडिडेट्स मैदान में उतरे हैं, इनमें से 62 मौजूदा विधायक हैं। 18 दिसम्बर को चुनाव परिणाम घोषित होगा। 

परिवार सहित मतदान करने पहुंचे वीरभद्र-धूमल
चुनाव में बीजेपी की ओर से प्रेम कुमार धूमल सीएम कैंडिडेट हैं, जो सुजानपुर से चुनाव लड़ रहे हैं। कांग्रेस की ओर से मुख्य चेहरा और मौजूदा सीएम वीरभद्र सिंह हैं, जो अर्की से चुनाव लड़ रहे हैं। वीरभद्र सिंह और धूमल दोनों ने ही अपने गृहनगरों रामपुर और समीरपुर में परिवार के सदस्यों के साथ वोट डाले। धूमल ने 60 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा किया है। दूसरी ओर वीरभद्र सिंह ने कहा है कि प्रदेश में अगली सरकार कांग्रेस की ही होगी। वहीं कई जगह ईवीएम मशीनों के खराब होने की शिकायतें मिलीं। 

मतदान के पिछले रिकार्ड टूटे
हिमाचल प्रदेश में इस बार मतदान प्रतिशत के पिछले सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं। इससे पहले साल 2012 के विधानसभा चुनाव में राज्य में 73.4 फीसदी मतदान हुआ था। सन 2007 में 71.61 और सन् 2003 के विधानसभा चुनाव में 74.51 प्रतिशत वोट डाले गए थे। आज हुए रिकॉर्ड मतदान को एक तरफ जहां चुनाव आयोग द्वारा इस संबंध में छेड़ी गई विशेष मुहिम का नतीजा माना जा रहा है।

प्रदेश के बुजुर्गों ने पेश की मिसाल
इस चुनाव में कई वयोवृद्व मतदाताओं ने मतदान केंद्र पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग कर मिसाल पेश की। चंबा जिले के डल्हौजी हल्के में 115 वर्षीय प्रभा राम ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। शिमला ग्रामीण के टूटू में वयोवृद्व दंपति 90 वर्षीय लीलाबत्ती गुप्ता व 97 वर्षीय प्यारे लाल गुप्ता ने वोट डाला। सोलन जिले के कुनिहार में 108 वर्षीय आयुध्या देवी व कसौली में 95 वर्षीय श्रीमती बर्मा ने वोट डाला। कांगड़ा जिले के पालमपुर हल्के के कलुंड पंचायत में 108 वर्षीय सीता देवी ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। देश के पहले मतदाता श्याम सरण नेगी ने कल्पा में वोट डाला। इसी तरह कुल्लू जिले के बंजार विधानसभा क्षेत्र के तलाड़ा मतदान केंद्र पर 100 वर्षीय हीरी देवी और मनाली विधानसभा क्षेत्र के गांव जगतसुख की 101 वर्षीय गौरी देवी, मंडी सदर हल्के में 98 वर्षीय पूर्ण शर्मा और उना में 94 वर्षीय मेला राम ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

399 मतदान केंद्र थे संवेदनशील
चुनाव आयोग ने 399 मतदान केंद्रों को संवेदनशील घोषित किया था, जहां सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए। चुनाव के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए 80 फीसदी केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है। होमगार्ड और हिमाचल पुलिस के जवानों को भी लगाया गया है। चुनाव प्रबंधन के लिए पहले ही करीब 37 हजार कर्मचारियों को मतदान केंद्रों पर भेजा जा चुका है। इस बार नतीजों का एलान 18 दिसंबर को होगा। 

पहले मतदान फिर शादी
हिमाचल प्रदेश विधान सभा चुनाव में गुरुवार को मतदान के दिन एक बड़ा ही दिलचस्प वाकया देखने को मिला। दरअसल प्रेदश के मनाली शहर के एक मतदान केन्द्र पर एक दूल्हा अपनी शादी से ठीक पहले मतदान के लिए आया। यहां पर मजेदार बात यह रही कि वह व्यक्ति दूल्हे के कपड़े में ही मतदान करने आया था।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


रणजी ट्रॉफी -दिल्ली के विशाल स्कोर के सामने लडख़ड़ाई महाराष्ट्र की पारी

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): कप्तान ईशांत शर्मा की आगुआई म...

आलोचना के बीच 'पद्मावती' के रोल पर ये बोलीं दीपिका पादुकोण...

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेत्री दीपिका पादुकोण कुछ समय ...

top