Tuesday, December 12,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
अजब गज़ब

अजब आस्था : इन मंदिरों में मन्नत पूरी होने पर भगवान को थैंक्स कहने में लग रहे 22 साल 

Publish Date: November 11 2017 11:30:04am

बेंगलुरु (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भगवान के दर पर मन्नत मांगना आसान है लेकिन मन्नत पूरी होने के बाद भगवान को धन्यवाद कहना बहुत मुश्किल है। मुश्किल इतना कि आप को थैंक्स कहने में भी 15 से 20 साल या कभी कभी 22 साल लग जाएंगे। जी हां, ये कोई अफवाह या झूठ नहीं बल्कि एक ऐसी हकीकत है जोकि हम आपको बताने जा रहे हैं। कर्नाटक के दक्षिण कन्नडा जिले में दो मंदिर हैं-कातिल श्री दुर्गापरमेश्वरी और उडुपी का मंदार्थी श्री दुर्गापरमेश्वरी मंदिर। इन मंदिरों में हर साल लाखों श्रद्धालु आकर मन्नत मांगते हैं। मन्नत पूरी होने पर इन्हें भगवान का धन्यवाद कहना होता है। इस प्रक्रिया को हरके सेवा (भक्त का अनुरोध) और यक्षगान (भगवान को थैंक्स) कहा जाता है। इस महीने यक्षगान होने हैं। नवंबर 2018 में उन लोगों के यक्षगान होने हैं उन्होंने आज से 15 से 20 साल पहले बुकिंग करवाई है। यदि भक्त आज से अभिनय का दिन चुनते हैं तो संभव है कि यह वर्ष 2039-40 में पूरा हो। मंदर्थी मेला से 5 यक्षगान दल जुड़े हुए हैं और 19 नवंबर से मई 2018 के अंत तक 920 शो होने हैं। इनमें से 150 से 160 स्थायी शो होते हैं, जो लोग पिछले 15 से 20 वर्षों से हर साल करवा रहे हैं। हर साल औसतन 890 हरके सेवा का मंचन किया जाता है। 

बुकिंग का आंकड़ा भी कम नहीं
आप जानकर हैरान होंगे कि इन मंदिरों में हर साल औसतन 1200 से 1300 बुकिंग मिलती है। सागर, सिद्दपुर, शिवमोगा, कोप्पा, उडुपी, मेंगलुरु के भक्त बुकिंग करवाते हैं। आमतौर पर वो भक्त होते हैं जोकि शादी, बच्चे, संपत्ति विवाद या स्वास्थ्य के ठीक होने पर हरेका सेवा कराने का प्रण लेते हैं। मुख्य पुजारी श्रीहरि नारायण दास असराना ने बताया कि एक भक्त को यहां पर अपने प्रण को पूरा करने के लिए 25 साल तक इंतजार करना होगा। वर्तमान में लगने वाले छह मेलों की संख्या बढ़ाई जा रही है। हर साल कातिल मेला के लिए 800 बुकिंग मिलती है। स्थाई शो के लिए 54 हजार रुपये लिए जाते हैं। 

यक्षगान के लिए चित्र परिणाम

यक्षगान के लिए चित्र परिणाम

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


एचडब्ल्यूएल फाइनल्स : आस्ट्रेलिया ने अर्जेटीना को मात दे जीता खिताब

भुवनेश्वर (उत्तम हिन्दू न्यूज): पेनाल्टी कॉर्नर विशेषज्ञ ब्ले...

top