Thursday, November 23,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
हरियाणा

गरीब लोगों का फर्जी अंगूठा लगाकर पेंशन हड़पता रहा एक कपल

Publish Date: November 12 2017 12:57:12pm

भिवानी (शशी कौशिक)  : यहां अशोक कालोनी निवासी महिला शालु तंवर ने वार्ड नम्बर-25 की पार्षद ज्योति कामरा व पूर्व नगर पार्षद अशोक कामरा पर फर्जी राशन कार्ड तैयार कर गलत तरीके से पैंशन लेने का आरोप लगाया है। शिकायतकर्ता ने पुलिस अधीक्षक को शिकायत पत्र सौंपकर मामले की जांच करवाने व आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है।

शालू ने शिकायत पत्र में कहा है कि वार्ड नम्बर 25 की पार्षद ज्योति कामरा व पूर्व पार्षद अशोक कामरा ने फर्जी राशन कार्ड बनाकर बुढ़ापा पैंशन 1 अप्रैल 2009 से 31 सितम्बर 2015 तक फर्जी अंगूठा लगाकर राशि का गबन किया है। दोनों ने किताब पुत्र गुलजारी निवासी जीतूवाला जोहड़ व महेंद्र पुत्र कन्हैया निवासी अशोका कालोनी के नाम पर बुढ़ापा पैंशन बनवा ली। उपरोक्त व्यक्ति पार्षद के पास गये कि हमारी बुढ़ापा पैंशन बनी हुई है, वह हमें दी जाए। लेकिन पार्षद ने बुढ़ापा पैंशन देने से मना कर दिया और कहा कि तुम्हारी बुढ़ापा पैंशन नहीं बनी हुई है। उपरोक्त दोनों ने अगस्त 2010 की एपीआर की कापी व राशन कार्ड की कापी भी दिखाई। बाद में खाद्य एवं आपूर्ति विभाग से सूचना के अधिकार के तहत जानकारी मांगी तो पाया कि समाज कल्याण विभाग में पैंशन बनवाने के लिए आईडी के तौर पर जो राशन कार्ड दिए गए हैं, वे दोनों राशन कार्ड फर्जी हैं।

विभाग ने इन राशन कार्डों को जारी नहीं किया। ज्योति कामरा ने फर्जी आवेदन पत्र व फर्जी राशन कार्ड साथ लगाकर 1 अप्रैल 2009 से अब तक फर्जी पैंशन घोटाला लगाकर 95 हजार रुपये का गबन किया और सरकार के रिकार्ड के साथ छेड़छाड़ की। जो फर्जी पैंशन बनाई गई है व किताब पुत्र गुलजारी निवासी न्यू हाऊसिंग बोर्ड व महेंद्र पुत्र कन्हैया निवासी दादरी गेट की है। उपरोक्त सदस्यों की एपीआई की कापी 1 अप्रैल 2009 में राशन कार्ड नम्बर क्रमश: 316626 व 814675 सही थे। भूतपूर्व पार्षद अशोक कामरा ने दिनांक 1 जनवरी 2011 में एपीआर की कापी में राशन कार्ड समाज कल्याण विभाग द्वारा बदल दिये गये। उसकी जांच करवाई जाए। ज्योति कामरा का बुढापा पैंशन बांटने की अवधि 1 अप्रैल 2009 से 31 दिसम्बर 2010 तक तथा उसके बाद भूतपूर्व पार्षद अशोक कामरा जोकि ज्योति कामरा का पति है वार्ड नम्बर 25 का पार्षद बना, उसने बुढ़ापा पैंशन दिनांक 1 जनवरी 2011 से अक्तूबर 2015 तक फर्जी बुढ़ापा पैंशन एपीआर में फर्जी अंगूठा लगाकर पैसों का गबन किया है।  शालु ने दोनों आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई किए जाने की मांग की है। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


बैडमिंटन-सिंधु हांगकांग ओपन के क्वार्टर फाइनल में, प्रणॉय बाहर 

हांगकांग (उत्तम हिन्दू न्यूज): रियो ओलम्पिक पदक विजेता पी.वी. सिंधु ने गुरुवार को हांगकांग...

top