Friday, November 24,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

विवादों का निपटारा कोर्ट के बाहर ही कराएंगे जज 

Publish Date: November 14 2017 12:52:10pm

बुलंदशहर  (उत्तम हिन्दू न्यूज): बुलंदशहर में जजों ने विवादों के वैकल्पिक समाधान और मध्यस्थता मार्ग पर एक साकारात्मक कदम उठाया है। एक पुस्तक विमोचन के बाद जिला जज ने बताया कि इस पुस्तक में विवादों के वैकल्पिक समाधान और मध्यस्थता मार्ग के बारे में लोगों को समझाकर कोर्ट में आने वाले केसों को समय रहते खत्म कराने पर जोर दिया जाएगा। 

देश में करीब 3 करोड़ मुकदमें कोर्ट में चल रहे हैं। इन मुकदमों को सुनने के लिए देश में पर्याप्त जज नहीं हैं। इनमें बहुंत से मुकदमें केवल अहम के कारण हैं। ऐसे विवादों को गांव-देहात में बैठकर वैकल्पिक समाधान के माध्यम से लोगों को समझा-बुझाकर खत्म कराए जा सकते हैं। लोगों को जब तक सरल भाषा में नहीं समझाएंगे वो इसकी गहराई नहीं समझ सकेंगे। लोगों की बातों को सुना गांव में जाकर ऐसे लोगों के केसों को सुना जाएगा जो काफी समय से चल रहे हैं और वहीं पर दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर उनका निस्तारण भी करा दिया जाएगा। 

जिला जज ओम प्रकाश अग्रवाल ने बताया कि अपराधिक प्रकरण न्यायालय में लंबित हैं और जिन धाराओं के अंतर्गत है, ऐसे मामले को सुलह समझौते के आधार पर दोनों पक्ष तैयार हो जाते हैं, उनका समझौता कर दिया जाता है। दो से तीन महीन में लोक अदालत लगाकर लोगों के मुकदमों को खत्म कराया जाता है। मध्यस्थता केंद्रों की अहमियत जजों ने कहा कि अगर दो लोग तैयार हैं तो उनके लिए एक मध्यस्ता केन्द्र (एडीआर सेंटर) बनाया हुआ है। जिसमें लोगों की समस्याओं का समाधान कराया जाता है। उन्हें बताया जाता है कि आप अगर समझौते के लिए तैयार हो गए तो आप के कितने फायदे होंगे और राजी नहीं होंगे तो क्या नुकसान हो सकते हैं।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


नागपुर टेस्ट : स्पिनरों के जाल में फंसे लंकाई बल्लेबाज, 205 पर सिमटी पारी

नागपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय गेंदबाजों ने विदर्भ क्रिकेट...

फिल्म तेवर के एक गीत से सोनाक्षी सिन्हा की जुड़ी हैं भावुक यादें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): बॉलीवुड की दबंग गर्ल सोनाक्षी सिन्हा ने कहा है कि फिल्म 'त...

top