Tuesday, December 12,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राजनीति

आतंक विरुद्ध

Publish Date: November 16 2017 01:29:00pm

मनीला में आसियान देशों के सम्मेलन में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि 'आतंकवाद और अतिवाद आसियान देशों के लिए सबसे बड़ी चुनौती बनकर उभरे हैं और अब इन देशों को इनसे सामूहिक रूप से लडऩे के लिए हाथ मिला लेना चाहिए। आतंकवाद एवं हिंसक अतिवाद के खात्मे के लिए सभी देश अपनी-अपनी लड़ाई भी लड़ रहे हैं लेकिन अब हमें इन चुनौतियों का मिलकर सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इसके लिए आपसी सहयोग को बढ़ावा देना जरूरी है। प्रधानमंत्री ने हाल के दिनों में लगभग सभी अंतरराष्ट्रीय मंचों से आतंकवाद के खात्मे के लिए आपसी सहयोग की अपील की है। आतंकवाद और अतिवाद पर आसियान देशों के बीच सहयोग को बढ़ावा देने के अलावा मोदी ने साउथ चाइना सी में चीन की दादागिरी पर भी अकुंश लगाने की अपील की है। भारत इस क्षेत्र में नियमों पर आधारित सुरक्षा ढांचा तैयार करने के पक्ष में है।'

आसियान देशों की बैठक के दौरान ही जापान, आस्टे्रलिया, अमेरिका, भारत के साथ आतंक सहित अन्य मुद्दों पर मिलकर कार्य करने की बात भी संयुक्त रूप से करने को कही। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस कदम को चीन विरुद्ध उपरोक्त देशों की एकजुटता को देखा जा रहा है।

गौरतलब है कि भारत की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् की सदस्यता का विरोध चीन कर रहा है। आतंक विरुद्ध भारत के हर कदम का विरोध भी चीन कर रहा है और पाकिस्तान को राजनीतिक सुरक्षा कवच देने का काम भी कर रहा है। अमेरिका अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदलते राजनीतिक समीकरण को देखते हुए भारत के काफी करीब आ गया है। लेकिन पाकिस्तान विरुद्ध केवल जुबान से बोलता है पर अपनी कार्य नीति में उसे पूरा महत्व दे रहा है। अमरीकी कांग्रेस ने पाकिस्तान को 70 करोड़ डालर की आर्थिक सहायता बहाल करने के लिए लश्कर-ए-तय्यबा से जुड़़ी शर्त हटा ली है। अमेरिका और चीन जैसे देश ही जब आतंकवाद को शह और समर्थन देने वाले पाकिस्तान व अन्य को अपना समर्थन देते रहेंगे तो फिर आतंकवाद विरुद्ध एकजुट होकर कदम उठाने की बात तो कागजों तक ही सीमित रह जाएगी।

आतंकवाद से आज हर बड़ा और छोटा देश प्रभावित है। आतंकवाद का समर्थन और विरोध जब तक निजी लाभ हानि को देखकर विकसित देश करते रहेंगे, तब तक आतंकवाद जारी ही रहेगा। आतंकवाद को लेकर जब तक विकसित देश एकजुट होकर नहीं सोचते, तब तक आतंकवाद विरुद्ध कुछ ठोस कर पाना मुश्किल है।

 -इरविन खन्ना, मुख्य संपादक , दैनिक उत्तम हिन्दू।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


एचडब्ल्यूएल फाइनल्स : आस्ट्रेलिया ने अर्जेटीना को मात दे जीता खिताब

भुवनेश्वर (उत्तम हिन्दू न्यूज): पेनाल्टी कॉर्नर विशेषज्ञ ब्ले...

top