Tuesday, December 12,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
पंजाब

पिम्स ने एड्स के खिलाफ लोगों को किया जागरूक, मैराथन करवाई

Publish Date: December 03 2017 01:15:58pm

जालंधर(उत्तम हिन्दू न्यूज): एचआईवी-एड्स एक ऐसा विषय है। जिसका नाम सुनते ही मन व्याकुल हो उठता है। इसके बारे में पता सभी को है लेकिन, लोग इसके बारे में बात करने से हिचकिताचे हैं। पंजाब इंस्टीच्यूट ऑफ मेडिकल साइंसिज (पिम्स) ने एड्स के प्रति लोगों को जागरुक करने का सफर जारी रखते हुए पिछले साल की तरह इस साल भी पांच किलोमीटर दौड़ करवाई गई। जोकि पिम्स से शुरू होकर वापिस पिम्स में ही खत्म हुई, जिसे पिम्स के रेजिडेंट डायरेक्टर अमित सिंह, डायरेक्टर प्रिंसीपल डा. कुलबीर कौर ने झंडी दिखाकर रवाना किया।

पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्यातिथि परगट सिंह और विषेशातिथि के रूप में जालंधर के पुलिस कमिश्नर प्रवीण सिन्हा शामिल हुए। लगभग 900 पिम्स के डाक्टर, स्टाफ, विद्यार्थियों के अलावा अन्य स्कूल, कालेज के अलावा अन्य लोगों ने भी भाग लिया। उत्साह इतना था कि क्या बच्चे और क्या बूढ़े, यहां तक कि महिलाएं भी इस दौड़ में पीछे नहीं थी। कहा जाए तो रविवार सुबह सड़कों पर जोश, जज्बा और जुनून दौड़ा। इस अवसर पर पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता भी करवाई गई। पिम्स के एमबीबीएस के विद्यार्थियों की ओर से एड्स विश्य पर नुक्$कड़ नाटक पेश किया गया इसके साथ ही भांगड़ा और गिद्दा पेश कर सबका मन मोह लिया मुख्यातिथि परगट सिंह और विशेषातिथि प्रवीण सिन्हा ने इस अवसर पर एड्स के खिलाफ लोगों को आगे आने का आह्वान किया। उन्होंने कहा एड्स के प्रति लोग जागरुक तो हो रहे हैं, लेकिन अभी भी लोगों इस पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। जागरुकता के तहत लोगों को एड्स के लक्षण, इससे बचाव, उपचार, कारण इत्यादि के बारे में जानकारी दी जाती है और इसके लिए कई अभियान भी चलाए जाते हैं। जिससे इस महामारी को जड़ से खत्म करने का प्रयास किया जा सके।

इस अवसर पर पिम्स के रेजिडेंट डायरेक्टर अमित सिंह ने कहा कि भारत में यह रोग अपने पैर जमा चुका है। हम सब की यह जिम्मेदारी है कि हम इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा इसका प्रचार करे ताकि लोग जागरुक हो सकें। पिम्स की डायरेक्टर प्रिंसीपल डा. कुलबीर कौर ने आए हुए सभी अतिथियों का स्वागत किया और कहा कि इस बिमारी से घबराने की जरूरत नहीं ब्लिक इसका डट कर सामना करने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि विश्व में इस बिमारी की चपेट में भारत तीसरे नंबर पर है। पंजाब की बात की जाए तो अमृतसर में सबसे ज्याजा, जालंधर दूसरे और तरनतारन मे एचआईवी पाजिटिव मरीजों की संख्या है। विजेताओं के नाम इस प्रकार है- ओवरआल पुरूष वर्ग में मकशिंदर सिंह और महिला वर्ग में मनीषा प्रथम रहे जिन्हें पिम्स की ओर से दस हजार रूपए का चैक, मोल्ड मेडल और सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया गया। इसी प्रकार 18 वर्ष से कम आयु के पुरुष वर्ग में आकाश सिंह प्रथम को सोने का पदक, विशाल यादव को सिल्वर, सचिन कुमार तीसरे स्थान पर रहे को कांस्य पदक देकर सम्मानित किया। जिन्हे क्रमवार सोने, सिल्वर और कान्य पदक देकर सम्मानित किया गया।

18 वर्ष से कम आयु की महिला वर्ग में रशदीप कौर प्रथम, दिपीका दूसरे और राधा देवी तीसरे स्थान पर रहे। 19 से 30 वर्ग के पुरुष वर्ग में मकशिंदर पहले, रामललित पटेल दूसरे, लवप्रीत तीसरे। महिला वर्ग में मनीषा पहले, शवीन दूसरे, करिश्मा तीसरे स्थान पर रहे। इन विजेताओं को भी क्रमवार सोने, चांदी और कांस्य पदक देकर सम्मानित किया गया। तीस वर्ष से अधिक वर्ग में गुरप्रीत सिंह पहले, डा.सुनील भाद्वाज दूसरे, सर्वराज तीसरे स्थान पर रहे। महिला वर्ग में डा. पूजा कपूर पहले, ऐनी तूर दूसरे, शमीला सेठी तीसरे स्थान पर रहे। पिम्स के रेजिडेंट डायरेक्टर अमित सिंह, डायरेक्टर प्रिंसीपल डा. कुलबीर कौर, वाइस प्रिंसीपल डा. राजीव अरोड़ा, मैडिकल सुपरिटैंडैंट डा. कुलबीर शर्मा, डाक्ट्र्स, र्नसिंग स्टाफ और कर्मचारी भी इस मौके पर मौजूद रहे।







 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


धीमी गेंदबाजी में फंसी वेस्टइंडीज टीम, जुर्माना लगा

हैमिल्टन (उत्तम हिन्दू न्यूज): न्यूजीलैंड के खिलाफ मंगलवार को...

सोशल मीडिया पर छाई विराट और अनुष्का की शादी, देखिए 35 खास तस्वीरें

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत के सबसे चर्चित प्रेमी जोड़...

top