Sunday, December 10,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
हिमाचल प्रदेश

पुलिस के तुगलकी फरमान, गुमटियों में जड़ दिए ताले

Publish Date: December 06 2017 11:04:07am

शिमला/ऊषा शर्मा: हिमाचल पुलिस प्रशासन ने तुगलकी फरमान जारी कर ट्रैफिक ड्यूटी देने वाले जवानों को ठंड में ठिठुरने  के लिए मजबूर कर दिया है। पुलिस प्रशासन के इस फरमान के कारण ट्रैफिक पुलिस कर्मियों को शिमला में पडने वाली कड़ाके की ठंड में मजबूरन 6 घंटे खड़े होकर ड्यूटी देने के लिए मजबूर कर दिया गया है। कुछ इस तरह के फरमान सर्दियों के मौसम  में पुलिस प्रशासन की तरफ से शिमला  की ट्रैफिक पुलिस के लिए जारी किए गए है। पुलिस प्रशासन द्वारा जारी निदेशों के मुताबिक अब कोई भी ट्रैफिक पुलिस कर्मचारी पुलिस गुमटियों में बैठकर ड्यूटी नहीं दे पाएगा। सर्दी हो या बारिश ट्रैफिक पुलिस के जवान को सड़कों में ही खड़े होकर ड्यूटी देनी होगी। ट्रैफिक पुलिस का जवान गुमटी में तभी बैठ सकता है जब या तो भारी बारिश हेागी या फिर बर्फबारी होगी। अन्यथा ट्रेैफिक पुलिस की गुमटी मे जवान को अंदर जाने की अनुमति नहीं मिलेगी। पुलिस प्रशासन के इस तुगलकी फरमान के बाद शिमला पुलिस प्रशासन ने  शिमला शहर व इसके आसपास  चल रही 42 ट्रैफिक पुलिस की गुमटियों मे ताले जड़ दिए है। 

जिसके कारण अब ट्रैफिक पुलिस कर्मियों को गुमटियों के बाहर ही डयूटी देने को मजबूर होना पड़ रहा है। शिमला शहर के प्रतिबंधित व सील्ड मार्गों पर करीब एक दर्जन ट्रैफिक पुलिस गुमटियां है जिनमें राउंड दि क्लाक ट्रैफिक पुलिस कर्मचारियों की तैनाती रहती है। शहर के वर्जित क्षेत्रों की ट्रैफिक गुमटियों में तो रात भर ट्रैफिक पुलिस के  जवानों को  ड्यूटी देनी पड़ती है । ऐसे में इन वर्जित क्षेत्रों में रात्रि डयूटी पर तैनात ट्रैफिक पुलिस जवानों को पूरी  रात ठंड में ठिठुरना पड़ सकता है।  शिमला  में ट्रैफिक गुमटियों में ताले जडने के बाद चाबियों को संबधित बीट अफसर के पास दे दिया गया है। अगर कभी बारिश में ट्रैफिक पुलिस के जवान को गुमटी की शरण भी लेनी पड़ी तो पहले बीट अफसर के पास जाकर गुमटी की चाबी लानी पड़ेगी।  

प्रदेश पुलिस प्रशासन के इस तरह के त़ुगलकी फरमान से ट्रैफिक पुलिस कर्मचारियों में खासा  रोष है। ट्रैफिक  पुलिस जवान अब दबी जुबान में यही कह रहे है कि ट्रैफिक  ड्यूटी से अच्छा तो कहीं और ही तबादला करवाया जाए। वहीं पुलिस प्रशासन का तर्क है कि ट्रैफिक पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ लगातार शिकायतें आ रही थी कि ट्रैफिक  पुलिस कर्मी सड़क पर कम और ट्रैफिक गुृमटी में ज्यादा बैठकर ही ड्यूटी देता है। पुलिस के पास इस  तरह की शिकायतें आने के बाद ही अब यह निर्णय लिया गया है। इस बारे हिमाचल पुलिस के महानिदेशक सोमेश गोयल ने बताया कि ट्रैफिक गुमटियों में ट्रैफिक जवानों के बैठे रहने की शिकायतें आने के बाद ही गुमटियो को बंद किया गया है। ऐसा नहीं है कि ट्रैपिक पुलिस जवान गुमटियों में नहीं बैठ सकते।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


धर्मशाला वनडे: श्रीलंका ने भारत को 7 विकेट से हराया

धर्मशाला (उत्तम हिन्दू न्यूज): तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल (13 रन प...

top