Tuesday, December 12,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
हिमाचल प्रदेश

सतलुज में बही छात्रा का नहीं लगा सुराग

Publish Date: December 06 2017 11:06:52am

शिमला/ऊषा शर्मा: शिमला से सटे सुन्नी क्षेत्र में सतलुज नदी में बही दसवीं की छात्रा का दूसरे दिन भी सुराग नहीं मिला है। पुलिस व स्थानीय लोगों ने मंगलवार को नदी में काफी खोजबीन की, लेकिन छात्रा का कोई पता नहीं चल सका। पुलिस द्वारा अपने स्तर पर चलाए गए तलाशी अभियान में कामयाबी नहीं मिलने पर अब जिला प्रशासन ने पेशेवर गोताखोरों का एक दल बुलाया है।

आशंका जताई जा रही है कि नदी का तेज बहाव छात्रा को कोलडैम तक बहा ले गया है। लिहाजा प्रशासन द्वारा कोलडैम में सर्च आपरेशन शुरू किया गया है। यह घटना सोमवार शाम छह बजे की हैं, जब सुन्नी की दो छात्राएं अपने घर वापिस लौट रही थीं कि घर से करीब एक किलोमीटर दूर कालीघाट के पास दोनों छात्राएं असंतुलित होकर सतलुज नदी में डूब गईं। हालांकि इनमें एक छात्रा को स्थानीय लोग बचाने में सफल रहे। इस छात्रा का आईजीएमसी में उपचार चल रहा है।

बताया गया है कि सेल्फी के चक्कर में यह हादसा हुआ है। जानकारी अनुसार 16 वर्षीय दोनों छात्राएं कालीघाट में सतलुज किनारे सेल्फी खींचने लगीं। इसी बीच एक लड़की का पैर फिसला और वह सतुलज में गिर गई। उसे बचाने के चक्कर में दूसरी लड़की भी नदी में कूद गई। लेकिन डूबने की स्थिति में उसने चिल्लाना शुरू किया। गनीमत रही कि वहां पहले से मौजूद कुछ स्थानीय लोगों ने डूब रही एक लड़की को सुरक्षित निकाल लिया, लेकिन दूसरी को नहीं बचा पाए। घटना के बाद लोगों ने घबराते हुए स्थानीय पुलिस को खबर दी। पुलिस क ेपहुंचने के बाद लापता लड़की की खोजबीन की, किंतु लड़की का कोई सुराग नहीं लगा। उधर, सुन्नी पुलिस ने आज उपचाराधीन लड़की के बयान दर्ज किए। शिमला की पुलिस अधीक्षक सोम्या सांबाशिबन ने भी आईजीएमसी जाकर छात्रा का हालचाल जाना।

थाना प्रभारी संजीव ठाकुर ने बताया कि प्रारंभिक तफतीश में हादसे की वजह मोबाइल गिरना सामने आ रही है। नदी किनारे से गुजरते हुए एक छात्रा का मोबाइल गिर गया था, जिसे उठाने के चक्कर में उसका फैर फिसला और हादसा हो गया। अपनी सहेली को डूबते देख उसे बचाने की कोशिश में दूसरी छात्रा भी नदी में कूद गई। इसके बाद आसपास खड़े लोगों ने दोनों छात्राओं को बचाने का प्रयास किया और एक को सुरक्षित बचा लिया गया। उन्होंने कहा कि दूसरे दिन लापता लड़की का नदी में सुराग नहीं मिल पाया है। अब जिला प्रशासन द्वारा कोलडैम में लड़की की तलाश की जा रही है। इस बीच आईजीएमसी में दाखिल (बचाई गयी छात्र) की मां ने बताया कि उनकी बच्ची पर किसी तरह का दवाब व तनाव नहीं था, ना ही उसे किसी तरह की परेशानी थी। गौरतलब है कि दोनों लड़कियां सुन्नी की रहने वाली हैं। इनमें एक सुन्नी के ही सरकारी स्कूल में दसवीं कक्षा की छात्रा थी, जबकि लापता हुई छात्रा ओपन स्कूल से पढ़ रही थी।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


एचडब्ल्यूएल फाइनल्स : आस्ट्रेलिया ने अर्जेटीना को मात दे जीता खिताब

भुवनेश्वर (उत्तम हिन्दू न्यूज): पेनाल्टी कॉर्नर विशेषज्ञ ब्ले...

top