Tuesday, December 12,2017     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
खेल

आईपीएल-2018 में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान बनकर लौट सकते हैं धौनी 

Publish Date: December 06 2017 05:54:59pm

 नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की गवर्निग काउंसिल की ओर से बुधवार को लिए गए फैसले के तहत दिग्गज खिलाड़ी महेंद्र सिंह धौनी की अगले साल लीग में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान के रूप में वापसी हो सकती है।
आईपीएल गवर्निग काउंसिल की बुधवार को बीसीसीआई प्रशासकों की समिति (सीओए) के साथ हुई बैठक में चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स की वापसी को स्वीकृति मिल गई है। ऐसे में धौनी के अलावा इन टीमों के कई उच्चस्तरीय खिलाडिय़ों को अगले साल होने वाली लीग में मैदान पर उतरते देखा जा सकता है।

चेन्नई फ्रेंचाइजी धौनी, सुरेश रैना और न्यूजीलैंड के दिग्गज हरफनमौला खिलाड़ी ब्रैंडन मैक्लम को टीम में बुला सकती है। टीम में वेस्टइंडीज के स्टार ड्वेन ब्रावो की भी वापसी हो सकती है।  इसी तरह, राजस्थान रॉयल्स आस्ट्रेलिया के हरफनमौला खिलाड़ी जेम्स फॉकनर और शेन वाट्सन, सलामी बल्लेबाज एरॉन फिंच और भारतीय स्टार खिलाड़ी अजिंक्य रहाणे को टीम में बरकरार रख सकती है।
 
उल्लेखनीय है कि चेन्नई और राजस्थान की टीमों को स्पॉट-फिक्सिंग मामले के कारण निलंबित कर दिया गया था। इनके स्थान पर आईपीएल में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्सऔर गुजरात लायंस को शामिल किया गया था। इस बैठक में लीग में वापसी करने वाली टीमें चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स राइट टु मैच (आरटीएम) क्लॉज के इस्तेमाल से 2015 संस्करण में खेलने वाले खिलाडिय़ों में से पांच को अपनी टीम में बरकरार रख सकती हैं।
इन दोनों टीमों के खिलाडिय़ों ने इस साल आईपीएल के संस्करण में पुणे सुपरजाएंट और गुजरात लायंस की टीमों का प्रतिनिधित्व किया था। इसके अलावा, बैठक में लिए गए एक अन्य फैसले के तहत हर फ्रेंचाइजी 2018 संस्करण के लिए अपनी टीम में पांच खिलाडिय़ों को बरकरार रख सकती है।
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा कि आईपीएल की टीमें प्लेयर रिटेंशन (नीलामी से पहले) और राइट टु मैच (नीलामी के दौरान) के अधिकारों का संयुक्त रूप से इस्तेमाल कर अपने पांच खिलाडिय़ों को अगले संस्करण के लिए बरकरार रख सकती हैं।

इन दोनो वर्गो में तीन से ज्यादा खिलाडिय़ों को बरकरार नहीं रखा जा सकेगा। इसका मतलब यह है कि अगर कोई फ्रेंचाइजी किसी खिलाड़ी को सीधे तौर पर बरकरार नहीं रखना चाहती है, तो उसको भी नीलामी के दौरान राइट टू मैच के तहत तीन ही खिलाडिय़ों को बरकरार रखने की छूट होगी।

आईपीएल फ्रेंचाइजी सर्वाधिक तीन भारतीय खिलाडिय़ों और दो विदेशी खिलाडिय़ों को अपनी टीम में बरकरार रख सकती है। इसके अलावा, फ्रेंचाइजी दो नए भारतीय खिलाड़ी भी टीम में बरकरार रख सकती है। 

2018 संस्करण के लिए हर टीम के पास 80 करोड़ रुपये की धनराशि (सैलरी कैप) होगी। अगले दो संस्करणों में इस धनराशि में दो और तीन करोड़ रुपये का इजाफा होगा। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400023000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


मैं यहां फुटबाल के लिए आया हूं :माराडोना

 बारासात (पश्चिम बंगाल) (उत्तम हिन्दू न्यूज): पश्चिम बंगाल के...

सोशल मीडिया पर छाई विराट और अनुष्का की शादी, देखिए 35 खास तस्वीरें

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत के सबसे चर्चित प्रेमी जोड़...

top